logo-image
लोकसभा चुनाव

Education News: भारत में मास्टर डिग्री के लिए कितने कोर्स, कौन सा करना चाहते हैं आप

Education News: भारत पौराणिककाल से शिक्षा और शिक्षण का एक बड़ा केंद्र रहा है. तक्षशिला से लेकर नालंदा और विक्रमशिला जैसे विश्वविद्यालय देश में ही नहीं, बल्कि विश्व में विख्यात रही हैं.

Updated on: 24 Jan 2024, 02:32 PM

New Delhi:

Education News: भारत पौराणिककाल से शिक्षा और शिक्षण का एक बड़ा केंद्र रहा है. तक्षशिला से लेकर नालंदा और विक्रमशिला जैसे विश्वविद्यालय देश में ही नहीं, बल्कि विश्व में विख्यात रही हैं. इन विश्वविद्यालयों में देश विदेश के लाखों-करोड़ों छाक्ष शिक्षा ग्रहण करते थे. आज भी भारत एक बड़ा एजुकेशन हब है. यहां राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से लेकर तमाम बड़े शहरों में बड़ी-बड़ी यूनिवर्सिटीज और शिक्षण संस्थानों में कई तरह के कोर्स संचालित किए जा रहे हैं. ऐसे में आज हम आपको यह बताने जा रहे हैं कि भारत में मास्टर डिग्री के लिए कितने कोर्स हैं. भारत में मास्टर डिग्री के लिए कई प्रकार के कोर्स होते हैं, जो विभिन्न विषयों पर आधारित होते हैं. इनमें से कुछ प्रमुख मास्टर डिग्री कोर्सों के उदाहरण निम्नलिखित हैं:

मास्टर ऑफ़ आर्ट्स (M.A.): इसमें विभिन्न कला और सामाजिक विज्ञान विषयों में मास्टर डिग्री प्राप्त की जा सकती है, जैसे कि इतिहास, भूगोल, राजनीति विज्ञान, साहित्य, आदि.

मास्टर ऑफ़ साइंस (M.Sc.): यह विभिन्न विज्ञान शाखाओं में मास्टर डिग्री के लिए है, जैसे कि भौतिक शास्त्र, रसायन शास्त्र, जीव विज्ञान, गणित, आदि.

मास्टर ऑफ़ टेक्नॉलॉजी (M.Tech): इसमें इंजीनियरिंग और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में मास्टर डिग्री होती है, जैसे कि कम्प्यूटर साइंस, इलेक्ट्रॉनिक्स, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, आदि.

मास्टर ऑफ़ कॉमर्स (M.Com): यह व्यापार और वित्त से संबंधित विषयों में मास्टर डिग्री है, जैसे कि व्यापार प्रबंधन, लेखा, वित्त, आदि.

मास्टर ऑफ़ कम्प्यूटर एप्लीकेशन्स (MCA): इसमें कम्प्यूटर साइंस और सॉफ्टवेयर डेवेलपमेंट के क्षेत्र में मास्टर डिग्री प्राप्त की जा सकती है.

मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (MBA): यह व्यवसायिक प्रबंधन में मास्टर डिग्री है और इसमें विभिन्न क्षेत्रों में स्पेशियलाइजेशन हो सकती है, जैसे कि मार्केटिंग, वित्त, मानव संसाधन, आदि.

मास्टर ऑफ़ डिज़ाइन (M.Des): यह क्रिएटिव आर्ट्स, डिज़ाइन और विशेष रूप से डिज़ाइन क्षेत्र में मास्टर डिग्री है.

मास्टर ऑफ़ फार्मेसी (M.Pharm): यह फार्मासी में मास्टर डिग्री है और इसमें दवाओं के विकास और उत्पादन के क्षेत्र में स्पेशियलाइजेशन होता है.

इनमें से कई और विषयों में भी मास्टर डिग्री के कोर्स होते हैं, और ये विभिन्न विश्वविद्यालयों और संस्थानों में उपलब्ध हो सकते हैं.