logo-image
लोकसभा चुनाव

आज मासिक दुर्गाष्टमी के साथ बना मां बगलामुखी जयंती का योग, राशि अनुसार जपें मंत्र 

Mantra As Per Zodiac Sign: मां बगलामुखी की पूजा मनोकामाना पूर्ति और वशीकरण के लिए खासतौर पर की जाती है. आज मासिक दुर्गाष्टमी पर ये योग बना है. ऐसे में आप अपनी राशि अनुसार मंत्र का जाप करके ज्यादा लाभ पा सकते हैं.

Updated on: 15 May 2024, 10:34 AM

New Delhi :

Mantra As Per Zodiac Sign: मासिक दुर्गाष्टमी के साथ मां बगलामुखी जयंती का योग विशेष रूप से शुभ माना जाता है, इस दुर्गाष्टमी को "शत्रु विनाश दुर्गाष्टमी" के नाम से भी जाना जाता है, जो मां बगलामुखी की पूजा के लिए अत्यंत शुभ है. बुधवार देवी दुर्गा का दिन माना जाता है, और मां बगलामुखी को दुर्गा का ही रूप माना जाता है. मां बगलामुखी जयंती, जिसे "पीताम्बरा जयंती" भी कहा जाता है, वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाई जाती है. इस साल यह तिथि 15 मई 2024 को पड़ी है. जयंती मां बगलामुखी के प्रकट होने का उत्सव है, जो दस महाविद्याओं में से एक हैं. मां बगलामुखी को शत्रु विनाश, मोह-माया से मुक्ति, वाक् सिद्धि, विद्या प्राप्ति, और मनोकामना पूर्ति की देवी माना जाता है. यह दुर्गाष्टमी "शत्रु विनाश दुर्गाष्टमी" के नाम से भी जाना जाता है, जो मां बगलामुखी की पूजा के लिए अत्यंत शुभ माना जाता है. बुधवार देवी दुर्गा का दिन माना जाता है, और मां बगलामुखी को दुर्गा का ही रूप माना जाता है. मां बगलामुखी का एक विशेष मंत्र है जिसे प्रत्येक राशि के जातक अपनी राशि के अनुसार जप सकते हैं.

मेष राशि: ॐ ह्रीं ऋण ऋणाय नमः

वृषभ राशि: ॐ ह्रीं क्लिं पीताम्बरायै नमः

मिथुन राशि: ॐ ह्रीं वाग्देवस्यै नमः

कर्क राशि: ॐ ह्रीं त्रिपुरसुंदर्यै नमः

सिंह राशि: ॐ ह्रीं महामाये नमः

कन्या राशि: ॐ ह्रीं शिवदायिन्यै नमः

तुला राशि: ॐ ह्रीं ब्रह्माधारिण्यै नमः

वृश्चिक राशि: ॐ ह्रीं कमलवासिन्यै नमः

धनु राशि: ॐ ह्रीं शत्रुसंहारीण्यै नमः

मकर राशि: ॐ ह्रीं महालक्ष्म्यै नमः

कुंभ राशि: ॐ ह्रीं विद्याप्रदायिन्यै नमः

मीन राशि: ॐ ह्रीं सर्वसमृद्धिदात्र्यै नमः

इन मंत्रों का जाप शाम को सूर्यास्त के बाद नहाकर मंदिर में माता की मूर्ति के सामने दीपक जलाकर करना चाहिए. कम से कम 108 बार आप अपनी राशि अनुसार दिए मंत्र का जाप करें. इस दिन मां बगलामुखी की पूजा करने से शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है. मोह-माया से मुक्ति मिलती है और वाणी प्रभावशाली होती है. अगर आप कोई सिद्धि या विद्या प्राप्त करना चाहते हैं तो ये दिन सबसे उत्तम माना जाता है. इस दिन मनोकामनाएं पूरी होती हैं.

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)