logo-image
लोकसभा चुनाव

भोजपुरी पावरस्टार पवन सिंह ने जनता के बीच बांटा अपना मोबाइल नंबर, कहा-.....

पवन सिंह लगातार कह रहे हैं कि वह काराकाट में ही रहेंगे और मुंबई वापस नहीं जाएंगे. इतना ही नहीं अब तो एक्टर ने लोगों को अपना मोबाइल नंबर भी देना शुरू कर दिया है.

Updated on: 15 May 2024, 07:59 PM

highlights

  • चुनावी प्रचार में जुटे पवन सिंह
  • जनता के बीच बांटा अपना मोबाइल नंबर
  • कहा- अब मुंबई नहीं जाएंगे

karakat:

भोजपुरी सिनेमा के पावरस्टार पवन सिंह इन दिनों अपने किसी फिल्म या गाने की वजह से नहीं बल्कि सियासी डेब्यू को लेकर चर्चा में बने हुए हैं. एक्टर ने बिहार के काराकाट सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन भरा है. पवन सिंह ने 9 मई, 2024 को अपना नामांकन दाखिल किया. नामांकन के बाद एक्टर के सर्पोट में कई भोजपुरी कलाकार जुटे और जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान पवन सिंह को देखने के लिए भारी जनसैलाब उमड़ा. बता दें कि काराकाट सीट पर 1 जून को यानी सातवें चरण में मतदान होना है. चुनावी प्रचार को लेकर पवन सिंह लगातार जनता के बीच में जा रहे हैं और उनसे मिलकर उनकी बातों को सुन रहे हैं. 

यह भी पढ़ें- चिराग को लेकर सम्राट चौधरी की भविष्यवाणी, रिकॉर्ड वोटों से करेंगे जीत दर्ज

पवन सिंह ने जनता को दिया अपना फोन नंबर

लोगों के बीच में जाकर पवन सिंह लगातार कह रहे हैं कि वह काराकाट में ही रहेंगे और मुंबई वापस नहीं जाएंगे. इतना ही नहीं अब तो एक्टर ने लोगों को अपना मोबाइल नंबर भी देना शुरू कर दिया है. इससे जुड़ा एक वीडियो एक्टर ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम पर भी शेयर किया है और कहा कि वह जनता से प्यार और आशीर्वाद पाकर निशब्द हैं. दरअसल, इस वीडियो में एक लड़की पवन सिंह से कहती है कि आप राखी बंधवाने आइएगाा ना? अब आपसे बात नहीं होगा? इस पर एक्टर कहते हैं कि नंबर दे दूं? लड़की के हां कहते ही पावरस्टार तुरंत अपना नंबर दे देते हैं. साथ ही कहते हैं कि वे उसके भाई जैसे हैं और अपने इंस्टाग्राम पर 7209999909 और 7481073169 शेयर कर कहा कि इस पर संपर्क किया जा सकता है.

पहले बीजेपी ने इस सीट से दिया था टिकट

आपको बता दें कि बीजेपी ने पहले एक्टर को पश्चिम बंगाल के आसनसोल से चुनावी टिकट दिया था, लेकिन एक्टर ने पहले यहां से चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था. उनके इस बयान से बीजेपी में नाराजगी देखी गई. जिसके बाद पार्टी ने पहले स्टार प्रचारक की लिस्ट से पवन सिंह को बाहर निकाला था और फिर आसनसोल सीट से अहलूवालिया को बीजेपी ने चुनावी मैदान में उतार दिया और पवन सिंह का टिकट काट दिया गया.