logo-image
लोकसभा चुनाव

छत्तीसगढ़ में सतनामी समाज का उग्र प्रदर्शन, 200 से अधिक गाड़ियों को फूंका, SP ऑफिस में लगाई आग

सोमवार को छत्तीसगढ़ के बलौदा बाजार में सतनामी समाज ने उग्र प्रदर्शन किया. इस दौरान उन्होंने जमकर तोड़फर मचाई और पथराव भी किया. इस प्रदर्शन में 200 से अधिक दोपहिया और 50 से अधिक चारपहिया गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया.

Updated on: 10 Jun 2024, 08:43 PM

highlights

  • छत्तीसगढ़ में सतनामी समाज का उग्र प्रदर्शन
  • एसपी ऑफिस में आग का तांडव
  • जानिए कहां से शुरू हुआ विवाद

balodabazar :

सोमवार को छत्तीसगढ़ के बलौदा बाजार में सतनामी समाज ने उग्र प्रदर्शन किया. इस दौरान उन्होंने जमकर तोड़फर मचाई और पथराव भी किया. इस प्रदर्शन में 200 से अधिक दोपहिया और 50 से अधिक चारपहिया गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया. मामले में पुलिस ने अब तक 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.  यहां पर प्रदेशभर से हजारों की संख्या में सतनाम समाज के लोग एकत्रित हुए थे और दशहरा मैदान में एकजुट होकर उग्र प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों पर आरोप है कि उन्होंने पुलिस पर भी पत्थरबाजी की. घटना में कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गए. प्रदर्शन को शांत कराने पहुंची दमकल गाड़ी में भी तोड़फोड़ की गई और भीड़ ने बेरिकेडिंग तक को तोड़ दिया और कलेक्टर परिसर में घुस गए. जहां पहुंचकर उन्होंने कलेक्ट्रेट में भी तोड़फोड़ की. यह प्रदर्शन सीबीआई जांच की मांग को लेकर किया गया. बीते दिनों गिरौदपुरी के महकोनी गांव में संत अमरदास की तपोभूमि के जैतखाम को काटे जाने के मामले में लगातार सीबीआई जांच की मांग की जा रही है.  पुलिस प्रशासन ने बढ़ते विरोध को देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी है और कलेक्टर परिसर के चारों तरफ बैरिकेडिंग लगा दी गई है. 

यह भी पढ़ें- रायपुर में मॉब लिंचिंग मामला! 2 मवेशियों की मौत.. एक जख्मी

जानिए कहां से शुरू हुआ विवाद

दरअसल, सतनाम समाज के प्रवर्तक बाबा गुरु घासीदास की तपोभूमि गिरौदपुरी में है, जहां कुछ असमाजिक तत्वों के द्वारा मंदिर परिसर में 15-16 की रात जमकर तांडव किया गया. वहीं, इसकी शिकायत पुलिस को दी गई. मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तारी के बाद भी सतनाम समाज के लोगों का गुस्सा कम नहीं हुआ और वे सीबीआई जांच की मांग पर अड़े हुए हैं.

मामले को लेकर सीएम आवास में हुए मीटिंग

आपको बता दें कि बलौदा बाजार में हुई हिंसा की घटना को लेकर सीएम विष्णदेव साय ने हाई लेवल बैठक भी बुलाई और छत्तीसगढ़ के डीजीपी को तलब किया.

एसपी ऑफिस में आग का तांडव

सतलाम समाज के लोग कलेक्ट्रेट ऑफिस पहुंच गए और वहां तोड़फोड़ किया. थोड़ी देर में बेरिकेड तोड़कर एसपी कार्याल समेत पूरे कलेक्टर ऑफिस को आग के हवाले कर दिया. इतना ही नहीं इस दौरान रास्ते में दो चक्के या चार चक्के जितनी भी गाड़िया खड़ी थी, सबको आग के हवाले कर दिया. फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है.