logo-image
लोकसभा चुनाव

Jharkhand Floor Test: फ्लोर टेस्ट में पास हुए हेमंत सोरेन, सरकार के पक्ष में पड़े 45 वोट

Jharkhand Floor Test: झारखंड विधानसभा में सोमवार को सीएम हेमंत सोरेन ने फ्लोर टेस्ट पास कर लिया. सरकार के पक्ष में 45 वोट पड़े जबकि विपक्ष में जीरो वोट पड़े.

Updated on: 08 Jul 2024, 12:54 PM

New Delhi:

Jharkhand Floor Test: झारखंड विधानसभा में सोमवार को बुलाए विशेष सत्र में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विश्वास मत हासिल कर लिया है. हेमंत सोरेन सरकार के पक्ष में 45 मत पड़े, जबकि विपक्ष में शून्य वोट पड़े. फ्लोर टेस्ट के बाद विधानसभा का विशेष सत्र अनिश्चितकाल तक के लिए स्थगित कर दिया गया. इससे पहले बीजेपी के विधायकों ने विधानसभा के बाहर विरोध प्रदर्शन किया. बता दें कि फ्लोर टेस्ट से एक दिन पहले यानी रविवार को सत्तारूढ़ गठबंधन और विपक्ष दोनों ने विधानसभा के विशेष सत्र के लिए रणनीति तैयार करने के लिए अलग-अलग बैठकें की. बता दें कि राज्यपाल की स्वीकृति के बाद विधानसभा अध्यक्ष रबीन्द्रनाथ महतो विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है.

बता दें कि गठबंधन में शामिल झारखंड मुक्ति मोर्चा, आरजेडी और कांग्रेस के विधायकों ने पहले ही विधानसभा में विश्वास मत हासिल करने का भरोसा जताया था, हालांकि बीजेपी का कहना था कि सत्तारूढ़ गठबंधन के लिए ये आसान नहीं होने वाला, लेकिन बीजेपी के इन दावों के बीच हेमंत सोरेन सरकार ने विश्वास मत हासिल कर लिया.

ये भी पढ़ें: क्या आप भी IRCTC पासवर्ड भूल गए? इस तरह से करें अकाउंट पासवर्ड को रीसेट

झामुमो के पास 44 विधायकों का समर्थन

बता दें कि झारखंड में विधानसभा की कुल 82 सीटें हैं. ऐसे में सरकार बनाने के लिए किसी भी दल को 42 विधायकों के समर्थन की जरूरत पड़ती है. ऐसे में हेमंत सोरेन ने राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन को 44 विधायकों के हस्ताक्षर वाला समर्थन पत्र सौंपा था. जिसमें झारखंड मुक्ति मोर्चा, आरजेडी, कांग्रेस, भाकपा माले के विधायकों का नाम शामिल था. विशेष सत्र से एक दिन पहले रविवार को सत्तापक्ष के विधायकों की बैठक हुई. जिसमें फ्लोर टेस्ट और कैबिनेट विस्तार की रणनीति बनाई गई.

ये भी पढ़ें: Mumbai Rain: मुंबई में भारी बारिश ने मचाई तबाही, कई सड़कों पर जल जमाव, स्कूलों की छुट्टी, सेंट्रल लाइन ठप

ईडी ने जनवरी में किया था गिरफ्तार

बता दें कि हेमंत सोरेन को 31 जनवरी की रात ईडी ने गिरफ्तार किया था. जिसके चलते उन्हें मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था उसके बाद चंपई सोरेन ने झारखंड के मुख्यमंत्री के रूप में राज्य की बागडोर संभाली थी. इस बीच 28 जून को उच्च न्यायालय ने उनकी जमानत याचिका स्वीकृत कर ली. जस्टिस आर मुखोपाध्याय की एकल खंडपीठ ने हेमंत सोरेन की जमानत याचिका मंजूर करते हुए ईडी की कार्रवाई पर भी सवाल उठाए.

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि ईडी के पास हेमंत सोरेन के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं है. उसके बाद हेमंत सोरेन उसी दिन जेल से बाहर आए. हेमंत सोरेन ने अपने ऊपर हुई कार्रवाई को राजनीतिक षड्यंत्र का हिस्सा करार दिया. ऐसे में वह विधानसभा में अपने संबोधन के दौरान बीजेपी पर निशाना साधते नजर आएंगे. यही नहीं हेमंत सोरेन लगातार आक्रामक तेवर में भी दिखाई दिए हैं.

ये भी पढ़ें: PM मोदी का आज से रूस और ऑस्ट्रिया का दौरा, राष्ट्रपति पुतिन के साथ इन मुद्दों पर होगी चर्चा?

कैबिनेट का विस्तार भी आज

जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आज ही अपने कैबिनेट का विस्तार भी करेंगे. शाम साढ़े तीन बजे मंत्री शपथ ले सकते हैं. ऐसा माना जा रहा है कि सोरेन के कैबिनेट में ज्यादा फेरबदल की संभावना नहीं है. वहीं नई सरकार में झामुमो कोटे से बैद्यनाथ राम को शामिल किए जाने की चर्चा है. वहीं कांग्रेस के डॉ. इरफान अंसारी को भी मंत्री बनना जाना लगभग तय माना जा रहा है.

calenderIcon 12:31 (IST)
shareIcon

हेमंत सोरेन सरकार ने हासिल किया विश्वास मत

Jharkhand Floor Test: हेमंत सोरेन सरकार झारखंड विधानसभा में विश्वास मत हासिल कर लिया है. बताया जा रहा है कि सोरेन सरकार का कैबिनेट विस्तार भी आज शाम को होगा. सोरेन सरकार के पक्ष में 45 मत पड़े.


calenderIcon 12:24 (IST)
shareIcon

झारखंड विधानसभा के बाहर बीजेपी का प्रदर्शन

Jharkhand Floor Test: हेमंत सोरेन सरकार के फ्लोर टेस्ट के लिए बुलाए गए झारखंड विधानसभा का विशेष सत्र शुरू हो गया है. विधानसभा सत्र शुरू होते हैं बीजेपी विधायकों ने विधानसभा के बाहर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है. बीजेपी विधायक अपने हाथों में दफ्तियां लेकर पहुंचे हैं. जिसमें राज्य में हुए घोटालों का जिक्र किया गया है.