logo-image
लोकसभा चुनाव

मध्य प्रदेश में मतदान से पहले मिला धनकुबेर! भोपाल में नोटों का पहाड़ देख चकराई पुलिस

Cash Recovered In Bhopal: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मिला नोटों का अंबार, मनी एक्सचेंजर के घर से मिली नोटों की गड्डियां

Updated on: 10 May 2024, 10:35 AM

New Delhi:

Cash Recovered In Bhopal: झारखंड में मंत्री के पीएम के नौकर के यहां से मिले 35 करोड़ रुपए नकद का मामला अभी थमा ही नहीं था कि मध्य प्रदेश में भी एक और धनकुबेर मिला है. प्रदेश की राजाधानी भोपाल से शुक्रवार सुबह चौंकाने वाली खबर सामने आई है. यहां पर पुलिस की छापेमारी में एक घर से करोड़ों रुपए की बरामदी हुई है. नोटों का पहाड़ देखकर खुद पुलिस ही चकरा गई. दरअसल मध्य प्रदेश की कई लोकसभा सीट पर 13 मई को मतदान होना है. इस वोटिंग से पहले राजधानी से बड़ी मात्रा में नकद पाए जाने से सनसनी फैल गई है. 

कहां मिला बड़ी मात्रा में कैश
मध्य प्रदेश के भोपाल स्थित पंत नगर में बड़ी मात्रा में कैश बरामद किया गया है. ये नकदी कैलाश खत्री नाम के शख्स के घर से बरामद की गई है. नोटों की गड्डियां देखकर पुलिस की आंखें भी खुली की खुली रह गईं. पुलिस के मुताबिक आरोपी शख्स मनी एक्सचेंजर के कारोबार से जुड़ा है. उसका दावा है कि ये नकद भी इसी सिलसिले में उसके पास है. हालांकि पुलिस उसके बयान के बाद मामले की जांच में जुट गई है. 

यह भी पढ़ें - MP: भोपाल के अवैध बालिका गृह से गायब हुईं 26 लड़कियां, शिवराज सिंह ने की ये मांग

छापेमारी अब भी जारी
एमपी पुलिस के मुताबिक इस मामले से जुड़े तारों को जोड़ने की कोशिश की जा रही है. इसी सिलसिले में फिलहाल कई अन्य जगहों पर भी छापेमारी की जा रही है. इसका चुनाव से तो कोई कनेक्शन नहीं है इसको लेकर भी जांच की जा रही है. 

बरामद नोट 5,10 और 20 रुपए के
भोपाल के पंत नगर कॉलोनी में मिले कैश की बात करें तो पुलिस के मुताबिक इसमें 5,10 और 20 रुपए मूल्य के नोट बरामद किए गए हैं. डीसीपी भोपाल जोन-1 प्रियंका शुक्ला के मुताबिक 38 वर्षीय कैलाश खत्री के घर से ये कैश बरामद कर लिया गया है. कैलाश 5,10 और 20 रुपए मूल्य के खराब या कटे-फटे नोटों के बदले कमीशन लेकर नए नोट देता था. पुलिस ने नए और पुराने दोनों नोटों की गड्डियां कब्जे में ले ली हैं. फिलहाल नोटों की गिनती की जा रही है. 

कोई दस्तावेज नहीं
पुलिस ने ये भी बताया कि इस शख्स के पास ऐसा कोई डॉक्यूमेंट या प्रमाण नहीं मिला है जिससे ये कहा जा सके कि कैलाश खत्री करेंसी एक्सचेंज कर सकता है. आयकर विभाग को भी इस बात की सूचना दे दी गई है. इनकम टैक्स विभाग 10 लाख से ज्यादा की नकदी मिलने पर इस मामले को खुद ही संज्ञान में ले लेता है.