logo-image
लोकसभा चुनाव

अशोक गहलोत ने भजनलाल सरकार पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- युवाओं को धरना प्रदर्शन की नहीं मिल रही अनुमति

राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने भजनलाल सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि प्रदेश के युवाओं को राजधानी जयपुर में विरोध प्रदर्शन करने से रोका जा रहा है और सरकार व पुलिस प्रशासन इस तरह की अलोकतांत्रिक कार्यप्रणाली को ना अपनाएं.

Updated on: 08 Jul 2024, 07:44 PM

highlights

  • अशोक गहलोत ने भजनलाल सरकार पर लगाए गंभीर आरोप
  • कहा- प्रदेश में युवाओं को धरना प्रदर्शन की नहीं मिल रही अनुमति
  • प्रशासन पर सरकार बना रही है दवाब

Jaipur:

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर से भजनलाल सरकार पर बड़े आरोप लगाते हुए जुबानी हमला बोला है. अशोक गहलोत ने अपने ऑफिशियल सोशल मीडिया हैंडल पर ट्वीट करते हुए लिखा कि प्रदेश में भाजपा सरकार लोगों को विरोध प्रदर्शन करने से रोक रही है. इतना ही नहीं कई युवाओं व सोशल वर्कर ने उन्हें सोशल मीडिया के माध्यम से और उनके कार्यालय में आकर इसकी शिकायत भी की है. उन्हें युवाओं ने शिकायत की है कि वे राजधानी जयपुर में धरना प्रदर्शन करना चाहते हैं, लेकिन उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी जा रही है. लोग बेरोजगारी भत्ता, राजीव गांधी युवा मित्र बहाली, रोजगार व अन्य मुद्दों को लेकर धरना प्रदर्शन करना चाहते हैं, लेकिन उन्हें सरकार के दवाब की वजह से प्रशासन अनुमति नहीं दे रहा है. वहीं, कई बार धरना प्रदर्शन के लिए आरक्षित शहीद स्मारक से भी युवाओं को बल प्रयोग कर भगा दिया जाता है, जो सही नहीं है.  

राजस्थान सरकार पर अशोक गहलोत ने लगाए आरोप

इसके साथ ही पूर्व सीएम ने लिखा कि लोकतंत्र में जनता का अधिकार है कि वह अपने हक के लिए शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन कर सकते हैं. इसलिए सरकार व पुलिस प्रशासन इस तरह की अलोकतांत्रिक कार्यप्रणाली को ना अपनाएं और जनता को उनके लोकतांत्रिक हक का इस्तेमाल करने दें.  

यह भी पढ़ें- जयपुर में अपराधी बेखौफ, फिल्मी स्टाइल में पॉपुलर यूट्यूबर्स को किया किडनैप

मंगलवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक

आपको बता दें कि 10 जुलाई को राजस्थान में बजट पेश होने वाला है. इससे पहले मंगलवार को राजधानी जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक होने जा रही है.  इस बैठक की अध्यक्षता नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली कर रहे हैं.  इस बैठक में विधानसभा के बजट सत्र को लेकर भी चर्चा होने वाली है.  विधायक दल की इस बैठक में बजट सत्र के साथ ही अन्य कई मुद्दों को लेकर रणनीति तैयारी की जाएगी. इसके बाद शाम 5 बजे से लेकर 6 बजे तक नवनिर्वाचित विधायकों के लिए प्रशिक्षण सत्र किया जाएगा.