logo-image
लोकसभा चुनाव

अब जयपुरवालों को धूप से राहत, ट्रैफिक सिग्नल पर लगे ग्रीन नेट.. छांव में खड़े रहेंगे वाहन

राजस्थान में भीषण गर्मी का दौर जारी है. सड़कों पर दुपहिया वाहन पर चलने वाले लोगों पर मानो आग बरस रही है, तो दूसरी तरफ चौपहिया वाहनों के एसी भी सूरज की तपिश के आगे फेल हो रहे है.

Updated on: 11 May 2024, 10:56 PM

नई दिल्ली:

राजस्थान में भीषण गर्मी का दौर जारी है. सड़कों पर दुपहिया वाहन पर चलने वाले लोगों पर मानो आग बरस रही है, तो दूसरी तरफ चौपहिया वाहनों के एसी भी सूरज की तपिश के आगे फेल हो रहे है. स्थानीय प्रशासन की तरफ से राजस्थान में अलग अलग इंतजाम किए जा रहे है. कोटा, जोधपुर में स्मोक गन से बारिश की तरह पानी की बौछार की जा रही है. वहीं आज से राजधानी जयपुर में ग्रेटर नगर निगम ने भीषण गर्मी से थोड़ी राहत देने के लिए आम जनता के लिए रामबाग ट्रैफिक सिग्नल पर ग्रीन नेट की व्यवस्था की है.

जयपुर में रामबाग सर्किल पर स्थित ट्रैफिक सिग्नल पर लोगों को एक मिनट तक रेड लाइट होने पर रुकना होता है, ऐसे में लोगों को नगर निगम जयपुर की ये पहल भीषण गर्मी से थोड़ी राहत देगा.

ट्रैफिक सिग्नल पर दोपहिया सवार ग्रीन नेट के नीचे ठंडी हरी छाया में राहत की सांस लेते हैं. वह बैगर किसी किचपिच शांति से ट्रैफिक सिग्नल पर अब ट्रैफिक खुलने का इंतजार कर रहे हैं. स्थानीय नागरिक इस पहल की काफी सरहाना भी कर रहे हैं. भले कुछ देर के लिए ही, मगर इस ग्रीन नेट से लोगों को इस चिलचिलाती गर्मी से काफी ज्यादा राहत मिल रही है. 

अब धूप से मिलेगी राहत

मामले में अबतक मिली जानकारी के अनुसार, ग्रेटर नगर निगम की ओर से इसकी शुरुआत शनिवार को रामबाग चौराहे से की गई है. जहां बड़ा ग्रीन शेड लगाकर यात्रियों समेत अन्य लोगों के लिए छाया की व्यवस्था की गई है. इससे सिग्नल पर रुकने वाले दुपहिया वाहन चालकों को धूप से थोड़ी राहत मिली. साथ ही वह आराम से खड़े रह पाते हैं. 

न सिर्फ इतना, बल्कि शहर में ट्रैफिक सिग्नल पर ग्रीन नेट लगने से ट्रैफिक पुलिस के जवानों को भी काफी राहत पहुंची हैं. अब ट्रैफिक पुलिस को धूप में खड़ा होकर ट्रैफिक मेंटेन करने की जरूरत नहीं है, बल्कि वो भी आराम से छाया में खड़े रहकर अपना काम कर सकते हैं.