logo-image
लोकसभा चुनाव

Char Dham Yatra: चारधाम यात्रा का शुभारंभ, पहले दिन किए 29,000 से ज्यादा श्रद्धालुओं ने केदारनाथ धाम में दर्शन

Char Dham Yatra: उत्तराखंड में चारधाम यात्रा की 10 मई को शुरुआत हो गई. यात्रा के पहले ही दिन श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा. पहले दिन केदारनाथ धाम में 29 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने बाबा केदार के दर्शन किए.

Updated on: 12 May 2024, 06:33 AM

नई दिल्ली:

Char Dham Yatra: देवभूमि उत्तराखंड की प्रतिष्ठित चार धाम यात्रा शुरू हो गई. तीर्थयात्रा के पहले दिन 29,000 ज्यादा श्रद्धालु शामिल हुए. राज्य सूचना विभाग के मुताबिक, ''उत्तराखंड में चार धाम यात्रा 10 मई को शुरू हुई थी. पिछले दो दिनों से केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री समेत तीनों धामों में भारी भीड़ लग गई. पहले दिन रिकॉर्ड संख्या में 29 से ज्यादा लोग केदारनाथ धाम पहुंचे. देश-विदेश से हजारों तीर्थयात्रियों ने केदारनाथ धाम के दर्शन किये." मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देशों के क्रम में केदारनाथ धाम, केदारनाथ पैदल मार्ग, केदारनाथ हाईवे और हेलीपैड पर कोई दिक्कत न हो, इसके लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं.

ये भी पढ़ें: PM Modi Odisha Visit: 'बिना कागज के बताएं 30 जिलों के नाम...', PM मोदी ने CM पटनायक को दिया चैलेंज 

जिला प्रशासन द्वारा सीसीटीवी कैमरों के साथ एक अलग यात्रा नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है. यात्रा नियंत्रण कक्ष में चौबीसों घंटे कर्मचारियों की तैनाती की गई है. इसके अलावा यात्रियों द्वारा हेल्पलाइन नंबर पर दर्ज करायी गयी समस्याओं का भी समाधान किया जा रहा है. इसके साथ ही यदि हेलीपैड और पैदल मार्ग, हाईवे और केदारनाथ धाम पर यात्रियों को कोई दिक्कत आती है तो प्रशासन द्वारा इसे सीसीटीवी कैमरों के जरिए देखा जा रहा है. साथ ही संबंधित अधिकारियों को वहां भेजकर यात्रियों की समस्याओं का त्वरित समाधान करने की व्यवस्था की गयी है.

ये भी पढ़ें: KKR vs MI : कोलकाता ने मुंबई को दिया 158 रनों का लक्ष्य, अब रोहित पर होगी नजर

सीसीटीवी कैमरों से हो रही निगरानी

सीएम धामी के दिशा निर्देशों के मुताबिक, चारधाम यात्रा के लिए लगभग 125 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिनके माध्यम से श्रद्धालुओं की आवाजाही पर नजर रखी जा रही है. मुख्यमंत्री धामी के निर्देशों के क्रम में इस वर्ष केदारनाथ में साफ-सफाई एवं स्वास्थ्य सुविधाओं की व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. बता दें कि पिछले साल की तुलना में इस साल अधिक सफाई कर्मियों को इस कार्य में लगाया गया है. तीर्थयात्रियों को कोई परेशानी न हो और यात्रा मार्ग गंदा और कूड़ा-कचरा न हो, इस पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. यात्रा मार्ग पर जगह-जगह पेयजल की व्यवस्था की गई है. श्रद्धालुओं को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए यात्रा मार्ग पर विभिन्न स्थानों पर स्वास्थ्य शिविर लगाए गए हैं ताकि यात्रियों को तत्काल स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जा सकें.

ये भी पढ़ें: Lok Sabha Election: चौथे चरण के लिए थमा चुनाव प्रचार, 13 मई को 10 राज्यों की 96 सीटों पर होगी वोटिंग

24 घंटे अलर्ट पर अधिकारी

मुख्यमंत्री के विशेष निर्देश पर सरकार के आला अधिकारी इस विश्व प्रसिद्ध यात्रा पर लगातार नजर बनाये हुए हैं और यात्रा में कोई बाधा न आये इसके लिए 24 घंटे अलर्ट पर हैं. शुक्रवार को चार धाम यात्रा शुरू होने के साथ, हजारों लोग आध्यात्मिक सांत्वना और दिव्य आशीर्वाद की तलाश में पवित्र मंदिर में पहुंचे. इस वर्ष की चार धाम यात्रा की शुरुआत छह महीने के अंतराल के बाद केदारनाथ धाम के दोबारा खुलने के साथ हुई है.