logo-image
लोकसभा चुनाव

उत्तराखंड में भारी बारिश ने बढ़ाई मुसीबत, CM धामी ने लोगों को अलर्ट रहने के दिए निर्देश

उत्तराखंड में मानसून की बारिश ने जहां लोगों को भीषण गर्मी से राहत दी, वहीं अब यह उनके लिए गंभीर समस्याएं खड़ी कर रही है. राज्य प्रशासन और मुख्यमंत्री धामी के नेतृत्व में स्थिति को संभालने के प्रयास जारी हैं.

Updated on: 07 Jul 2024, 01:07 PM

highlights

  • उत्तराखंड में भारी बारिश ने बढ़ाई मुसीबत
  • CM धामी ने लोगों को अलर्ट रहने के दिए निर्देश
  • भारी बारिश से भूस्खलन और जलस्तर में वृद्धि

New Delhi:

Uttarakhand News: उत्तराखंड के लोगों को इस बार भीषण गर्मी से राहत मिली है क्योंकि मानसून ने जोरदार दस्तक दी है. मानसून के सक्रिय होने के कारण पहाड़ से मैदान तक बीते 6-7 दिनों से लगातार भारी बारिश हो रही है. हालांकि, अब यही बारिश लोगों के लिए परेशानी का कारण बन गई है. राज्य में भारी बारिश के चलते कई सड़कें और हाईवे बंद हो गए हैं. पहाड़ी इलाकों में मलबा गिरने की घटनाएं सामने आई हैं, जिससे लोग अपने घरों में ही रहने को मजबूर हो गए हैं.

यह भी पढ़ें: CM नीतीश कुमार का पूर्णिया दौरा, NDA प्रत्याशी के लिए भरेंगे हुंकार

भारी बारिश से भूस्खलन और जलस्तर में वृद्धि

मानसून की भारी बारिश ने पिथौरागढ़, नैनीताल, चमोली और बद्रीनाथ जैसे क्षेत्रों में भूस्खलन की घटनाओं को जन्म दिया है. इन घटनाओं ने लोगों के लिए गंभीर समस्याएं पैदा कर दी हैं. इसके अलावा, प्रदेश में लगातार हो रही भारी बारिश के कारण सभी प्रमुख नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है. ऋषिकेश में गंगा नदी का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है, जिससे प्रशासन को सतर्कता बरतनी पड़ रही है. प्रशासन ने नदी के आसपास के इलाकों में अनाउंसमेंट कर लोगों से सुरक्षित स्थानों पर जाने की अपील की है ताकि किसी भी प्रकार की अनहोनी से बचा जा सके.

मुख्यमंत्री धामी की सतर्कता और निर्देश

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए सभी जिलों के जिलाधिकारियों और आपदा कंट्रोल रूम के अधिकारियों और कर्मचारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए हैं. साथ ही, राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) को भी सतर्क रखा गया है. शनिवार देर रात गंगा नदी के किनारे और आसपास के इलाकों में अनाउंसमेंट कर लोगों को गंगा नदी के बढ़ते जलस्तर के बारे में जानकारी दी गई और उनसे तुरंत सुरक्षित स्थानों पर जाने की अपील की गई.

मौसम विभाग का अलर्ट

मौसम विभाग ने रविवार को राज्य के नौ जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. इन जिलों में भारी बारिश की संभावना को देखते हुए प्रशासन ने पहले से ही तैयारी कर ली है. इस बार का मानसून, जो कभी राहत का कारण था, अब मुसीबत बन गया है.

स्थिति की गंभीरता

मानसून की भारी बारिश ने उत्तराखंड की सामान्य जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है. सड़कें और हाईवे बंद होने से यातायात बाधित हो गया है और लोग अपने घरों में फंसे हुए हैं. पहाड़ों से मलबा गिरने से भूस्खलन की घटनाएं बढ़ गई हैं, जिससे लोग अपने घरों में दुबकने को मजबूर हो गए हैं.

प्रशासन की तैयारियां

वहीं प्रशासन ने लोगों की सुरक्षा के लिए हर संभव कदम उठाए हैं. एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमें लगातार निगरानी कर रही हैं और जरूरत पड़ने पर राहत कार्यों में जुटी हुई हैं. मुख्यमंत्री धामी के निर्देशों का पालन करते हुए प्रशासन ने स्थिति को नियंत्रित करने के लिए हर संभव प्रयास किया है.