logo-image
लोकसभा चुनाव

Uttrakhand: उत्तराखंड के नौ जिलों मे भारी बारिश का रेड अलर्ट, जानें अपने जिले का हाल

उत्तराखंड में भारी बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. मौसम विभाग ने नौ जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी जिलाधिकारियों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं.

Updated on: 10 Jul 2024, 04:33 PM

देहरादून:

देश भर में मानसून ने दस्तक दे दी है. पूरे देश में बारिश से बुरा हाल है. उत्तराखंड में भारी बारिश ने लोगों को परेशान कर रखा है. बारिश लोगों के लिए आफत बनती जा रही है. प्रदेश में मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. मौसम विभाग ने बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है. राज्य के नौ जिलों- पौड़ी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, नैनीताल, ऊधम सिंह नगर और चंपावत में मौसम विभाग ने भारी से बहुत अधिक बारिश की आशंका जताई है. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी जिलाअधिकारियों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं. 

कुमाऊं मंडल में लगातार बारिश
प्रदेश के कुमाऊं मंडल में पिछले तीन दिनों से मूसलाधार बरसात हो रही है. कुमाऊं का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन लालकुआं भी आफत भरी बारिश से प्रभावित हो गया है. लालकुआं स्टेशन का ट्रैक पूरी तरह से पानी में डूब गया है. इस वजह से आवाजाही में दिक्कत हो रही है. कुमाऊं डीएम ने बच्चों की सुरङा के मद्देनजर स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में दो दिन की छुट्टियां घोषित की है. कुमाऊं की लगभग 92 रोड बंद हैं. सरयू, काली और गोरी नदी उफान पर है.  

देहरादून में जल भराव की समस्या
देहरादून में भारी बारिश के चलते सड़कों पर जल भराव की समस्या गंभीर हो गई है. सोमवार को कुछ इलाकों में मूसलाधार बारिश के कारण सड़कों पर लगभग 2 फीट पानी भर गया. जिससे वाहन चालकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. रिस्पना पुल के पास मुख्य सड़क पर जल भराव होने से वाहनों की आवाजाही बाधित हुई. अजबपुर फ्लाईओवर पर बने अंडरपास में भी पानी भर गया, जिससे कई वाहन फंस गए. इस जल भराव में फंसे परिवार को बचाने गए दो युवकों की डूबने से मौत हो गई.

प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि वे सावधानी बरतें और अनावश्यक यात्रा से बचें. राहत और बचाव कार्य लगातार जारी हैं, लेकिन मौसम की मार के चलते स्थिति विकट बनी हुई है.