Banner

कोरोना के बाद अब इस खतरनाक बीमारी ने दी दुनिया में दस्तक, WHO ने जारी किया अलर्ट

Disease 'X': कोरोना के बाद दुनिया में एक और खतरनाक बीमारी ने दस्तक दी है. इस बीमारी को कोरोना से भी 20 गुना ज्यादा खतरनाक माना जा रहा है. जिसे लेकर डब्ल्यूएचओ ने अलर्ट जारी किया है. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, इस बीमारी से 5 करोड़ लोगों की जान जा सकती है.

News Nation Bureau | Edited By : Suhel Khan | Updated on: 25 Sep 2023, 08:47:25 AM
Disease X

दुनिया में एक और घातक बीमारी की दस्तक (Photo Credit: Social Media)

highlights

  • कोरोना से ज्यादा खतरनाक वायरस की दस्तक
  • डब्ल्यूएचओ ने जारी किया अलर्ट
  • कोरोना से 20 गुना ज्यादा खतरनाक है नई बीमारी

New Delhi:  

Disease 'X': दुनियाभर में एक बार फिर से बेहद खतरनाक बीमारी का खतरा मंडरा रहा है. जिसे लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अलर्ट जारी किया है. इन नई बीमारी को एक्स (X) नाम से पहचाना जा रहा है. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, नई डिसीज एक्स से पांच करोड़ लोगों की मौत होने की संभावना है. क्योंकि ये बीमारी कोविड महामारी की तुलना में 20 गुना से ज्यादा खतरनाक है. विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के प्रमुख डॉ. टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस ने कहा है कि यह डिसीज एक्‍स कभी भी दस्तक दे सकती है और इससे महामारी की आशंका है. जिसमें लाखों लोगों की मौत होने की संभावना है.

ये भी पढ़ें: Weather Update: यूपी-एमपी समेत इन राज्यों में बारिश का अलर्ट, जानें कैसा रहेगा दिल्ली में मौसम

उन्होंने इसे बेहद घातक बताया. उन्होंने कहा कि इससे बचने के लिए वैज्ञानिकों ने वैक्‍सीन बनाने पर काम शुरू कर दिया है. WHO के मुताबिक, कोरोना महामारी से करीब 25 लाख मौतों का अनुमान है, लेकिन यह नई बीमारी उससे कहीं अधिक घातक है. जिसे करीब 5 करोड़ लोगों की मौत होने की आशंका है. वहीं ग्‍लोबल हेल्‍थ एक्‍सपर्ट्स ने इस नई बीमारी को लेकर कहा है कि ऐसा माना जा रहा है कि डिसीज एक्‍स के कारण स्‍पैनिश फ्लू जैसी तबाही हो सकती है. बता दें कि साल 1918-20 में स्‍‍‍‍‍‍‍‍पैनिश फ्लू के चलते दुनिया भर में 5 करोड़ से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी.

स्पैनिश फ्लू से हुई विश्व युद्ध से ज्यादा मौतें

वहीं यूनाइटेड किंगडम के वैक्सीन टास्कफोर्स की अध्यक्ष केट बिंघम का कहना है कि ऐसी महामारी से लाखों लोगों की मौत होती है. प्रथम विश्व युद्ध में मरने वालों से ज्यादा मौतें स्पैनिश फ्लू के चलते हुईं. उन्‍होंने कहा कि, पहले की तुलना में आज कहीं ज्यादा वायरस मौजूद हैं और इनके वैरिएंट्स भी बहुत तेजी से लोगों को संक्रमित कर देते हैं. उन्होंने ये भी कहा कि लेकिन सभी वैरिएंट घातक नहीं होते हैं, हालांकि, ये महामारी ला सकते हैं उन्होंने बताया कि करीब 25 वायरस फैमिली की पहचान कर ली गई है. जिनकी वैक्सीन बनाने के काम किया जा रहा है. जल्द ही इसमें कामयाबी भी मिल सकती है.

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी को ओवैसी की खुली चुनौती- मैदान में उतरो और मेरे सामने लड़ो चुनाव

नई बीमारी से बचाव जरूरी

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि नई बीमारी से लोगों का बचाव जरूरी है. डब्ल्यूएचओ का कहना है कि ये सभी संक्रामक रोग हैं और यही महामारी का कारण बनेंगे. इसमें नई बीमारी एक्‍स के अलावा इबोला वायरस, मारबर्ग, सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम, कोविड-19, जीका, मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम आदि शामिल हैं. इन सबमें सबसे ज्यादा खतरनाक डिसीज एक्स को माना जा रहा है.

ये भी पढ़ें: PM मोदी की आज जयपुर में जनसभा, पहली बार महिलाएं संभालेंगी सभा की कमान

हेल्‍थ एक्‍सपर्ट का कहना है कि कोरोना से पहले भी डिसीज एक्‍स थी; जिसे कोरोना नाम दिया गया. एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस शब्‍द को इसलिए इस्‍तेमाल किया जाता है कि क्योंकि जैसे ही बीमारी का पता चलेगा, उसे वह नाम दे दिया जाएगा. यह एक प्रकार का प्‍लेसहोल्‍डर है; चिकित्‍सा विज्ञान में अज्ञात बीमारी के लिए एक्स को इस्‍तेमाल में लाया जाता है. फिलहाल इस बीमारी के आकार- प्रकार के बारे में वैज्ञानिकों को स्‍पष्‍ट जानकारी नहीं मिली है. इसीलिए इसका नाम एक्स रखा गया है. जैसे ही अगली बार किसी नई बीमारी का पता चलेगा तो उसका नाम एक्स से बदल दिया जाएगा.

First Published : 25 Sep 2023, 08:43:20 AM